Market me vishwa ka pahla laptop computer kab aor kisake dvara aaya

worlds first laptop invention

Answer: आप सभी को पता है की टेक्नोलॉजी ने दुनिया में कितना बदलाव लाया है जब दुनिया का पहला कंप्यूटर बना था तब  वह एक घर जितना बड़ा था और उसे चलाने के लिए काम से काम 4 – 5 आदमी होते थे। और वह कंप्यूटर बहुत ज्यादा इलेक्ट्रिसिटी लेता था। उस कंप्यूटर को चलाने के लिए सभी लोगो को पढ़ा लिखा यानी की कंप्यूटर ग्रेजुएट लोग ही उसे चला सकते थे। पुराने कंप्यूटर को यदि कही लाना ले जाना होता था तब एक ट्रक का इस्तेमाल होता था। और जो उसमे मेमोरी कार्ड इस्तेमाल होती थी उसकी भी स्टोरेज छमता KB या Byte में होती है पर आज हम GB या TB में स्टोरेज इस्तेमाल करते है। और वह भी एक सेंटीमीटर की साइज में जबकि पहले जमाने में वह मेमोरी 1 वाशिंग मशीन जितनी बड़ी होती थी। 

धीरे धीरे कंप्यूटर का आकार छोटा और एडवांस होता गया और आज हम उस कंप्यूटर को घर के किसी भी कोने में रख सकते है। आज लगभग सारे काम हम कंप्यूटर पर करते था जबकि कंप्यूटर केवल computing यानी की calculation लिए बनाया गया था। पर अब समय बदल गया है, अब अगर कंप्यूटर न हो तो लगभग सारी कंपनी और फैक्ट्री बंद बाद जाएंगी क्योंकि अब लोग डिजिटल मध्यम का उपयोग करने लगे है जो की कंप्यूटर के बिना असंभव है। 

Technology कंपनियों ने कंप्यूटर पर काफी जोर दिया की यह एक आधुनिक और भविष्य की काफी अच्छी खोज है और इसके हार्डवेयर कंपोनेंट का आकार छोटा करते गए। फलस्वरूप आज कंप्यूटर का नया रूप Laptop है जिसे जैसे चाहे वैसे, जहा चाहे वहा इस्तेमाल कर सकते है। यदि किसी को ईमेल भेजना हो, वीडियो या फोटो वेब चंद मिनटों में हो जाता है। और अब तो क्लाउड कम्प्यूटिंग की मदद से सारी चीजे सर्वर पर उपलब्ध होती है आपको केवल उसे access करने की देरी है जिसमे आपको केवल डिस्प्ले और इंटरनेट की जरूरत पड़ेगी फिर बस आपका काम हो जायेगा। 

लैपटॉप को और एडवांस करने के बाद अब हम उसे Tablet की तरह भी इस्तेमाल करने लगे है जिसमे केबोर्ड, माउस की कोई जरूरत नहीं केवल टच स्क्रीन से भी काम हो जाता है। टैबलेट को हम मोबाइल कंप्यूटर भी कह सकते है। क्योंकि उसे हम कही भी रख सकते है न keyboard, mouse और ना ही लेक्ट्रिक पोर्ट की जरूरत केवल चार्जिंग के कारण वह पूरा दिन चल जाता है। बस, ट्रेन, कॉलेज, या ऑफिस कही भी इस्तेमाल कर सकते है वो भी काफी आसानी से। मोबाइल फोन की बात करे तो आज वह भी किसी कंप्यूटर से काम नहीं है। कंप्यूटर या लैपटॉप लेने से पहले लोग मोबाइल ही खरीदते है। जबसे दुनिया में android system आया है तबसे मोबाइल की काया कल्प ही बदल गई है। ऑफिस का काम हो या कॉलेज का सबसे पहले लोग उसे मोबाइल में ही करते है और ज्यादा जरूरत पड़ने पर ही कंप्यूटर या लैपटॉप का इस्तेमाल करते है।

Epson दुनिया का पहला लैपटॉप कंप्यूटर था। जिसका आविष्कार जुलाई 1980 में जापान की कंपनी Seiko द्वारा किया गया था। Computer की दुनिया को बदलने में लैपटॉप का बहुत बड़ा योगदान रहा है जिसके कारण आज कंप्यूटर पर काम करना बहुत ही आसान हो गया है। क्यूंकि कंप्यूटर का आकार बहुत बड़ा और भारी होता है वही लैपटॉप काफी हल्का और Portable होता है जिसे जब चाहे जहा जैसे चाहे वैसे ले जाया जा सकता है और इस्तेमाल किया जा सकता है।

Post a Comment

0 Comments