RAM, ROM और Cache Memory क्या है?

RAM, ROM और Cache Memory क्या है?

RAM क्या है?

RAM एक कंप्यूटर की तेज (Fast) मेमोरी है जिसका उपयोग जानकारी (Data) स्टोर या रखने के लिए किया जाता है। RAM को main मेमोरी भी कहा जाता है। रेम का इस्तेमाल लगभग हर process करने वाली मशीनों (Devices) में किया जाता है, जैसे Computer, Laptop, Mobile, Smart Watch इत्यादि। RAM का इस्तेमाल कंप्यूटर की speed को बढ़ाने के लिए किया जाता है। RAM का पूरा नाम Random Access Memory है जो की ROM से fast होती है। Random का अर्थ है RAM में पड़े किसी भी डाटा को जब चाहे तब और जैसे चाहे वैसे प्राप्त (Access) किया जा सकता है। छोटे डिवाइस में RAM को motherboard के साथ स्थापित किया जाता है RAM की speed, ROM से लगभग 10 से 100 गुना तेज होती है। कंप्यूटर में किसी भी प्रोसेस को करने के लिए उस प्रोसेस का डाटा Operating System द्वारा RAM में रखा जाता है और फिर उस प्रोसेस को शुरू किया जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि कंप्यूटर को Process के लिए data की मांग बढ़ जाती है और सीघ्र आती सीघ्र डाटा का पहुंचना अनिवार्य होता है अन्यथा कोई भी प्रोसेस कंप्यूटर में अच्छे तरीके से execute नही हो पाएगा।

RAM Kaise kaam karta hai?

RAM को Volatile या Temporary Memory भी बोला जाता है क्योंकि किसी भी कार्य (Process) को करने बाद इसमें पडा data या information को डिलीट कर दिया जाता है और यदि आप कंप्यूटर को बंद करते है तो भी इसमें पडा डाटा डिलीट हो जाता है और RAM पूरी तरह से खाली हो जाता है। RAM की कीमत ROM से 2 से 3 गुना जड़ा होती है

जब कभी हम process को पहली बार चालू करते है तब वो शुरू होने में थोड़ा अधिक समय लेता क्योंकि कंप्यूटर उस प्रोसेस के सारे डाटा को ROM से लाकर RAM में रखता है पर जब उसी प्रोसेस को बंद करके दोबारा शुरू किया जाता है तब वो ज्यादा समय ना लेते हुए तुरंत ही start हो जाता है क्योंकि उसका डाटा RAM में पड़ा ही रहता है। यही कारण है कि दोबारा प्रोसेस को चालू होने में अधिक समय नहीं लगता।

RAM की Storage Capacity ज्यादा नहीं होती। उसकी range 2GB से लेकर 32GB तक या 64जीबी तक होती है उससे अधिक नहीं। हम जब चाहे तब अपने कंप्यूटर का RAM साइज आवश्यकता अनुशार बढ़ा या घाटा सकते है। यदि आप Computer Game खेलते है तो आपको कम से कम 4GB RAM की जरूरत पड़ेगी, जितना ज्यादा RAM होगा उतना अच्छा परफॉर्मेंस मिलेगा।


ROM क्या है?

ROM ज्यादा तर Hard Disk के नाम से भी जाना जाता है। रोम का पूरा नाम Read Only Memory है। Computer या किसी भी Device का सारा data ROM में रखा जाता है जैसे की Boot Loader और Operating System या Software. इसमें उस प्रोग्राम का समावेश होता है जिसके द्वारा कंप्यूटर चालू होता है। ROM input और output कार्य में बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। ROM की storage कैपेसिटी RAM से बहुत ज्यादा होती है। हम जो कुछ भी अपने कंप्यूटर में रखते है वो सारी चीजे ROM में store होती है फिर चाहे वो software हो, File, Video, Image या Audio हो। ROM की कीमत RAM से कम होती है

ROM दो तरीके के होते है

1) Hard Disk Drive (HDD) क्या है?

HDD एक mechanical storage मीडियम है इसमें डाटा को रखने के लिए डिस्क का उपयोग होता है। HDD की कीमत SSD से कम होती है कीमत काम होने का कारण यह है की इसके स्पीड की छमता SSD से कम होती है। हार्ड डिस्क ड्राइव Platter डिस्क का बना होता है जिसपर read और write hand के जरिया डाटा को लिखा या मिटाया जाता है। Read और Write हैंड के जरिए आप अपने हार्ड डिस्क को कई बार फॉर्मेट कर सकते है।

हार्ड डिस्क खरीदते समय इन चीजों का ख्याल रखे।

  • उसका स्टोरेज capacity काम से कम 1TB तक हो।
  • वो अच्छी कंपनी का होना चाहिए।
  • उसकी स्पीड अच्छी होनी चाहिए जिससे आपको कोई भी कार्य करने में पारशानी न हो।
  • काम से कम 6 महीने से 12 महीने की warranty हो
  • आस पास में उसका सर्विस सेंटर हो।
  • और आखिर में उसकी कीमत।


कौन सी हार्ड डिस्क अच्छा है?

नीचे दी गई हार्ड डिस्क सबसे अच्छी कंपनियों का है जिसमे आप अपने सारे काम कर सकते है जैसे की programming, editing, office कार्य सभी कामों के लिए बेस्ट है।

Hard Disk Company List:

  • Seagate
  • Western Digital (WD)
  • Samsung
  • Toshiba
  • Lenovo
  • Transcend


2) Solid State Drive (SSD) क्या है?

SSD एक नए प्रकार का स्टोरेज मीडियम है यह मोबाइल के मेमोरी कार्ड जैसा होता है जिसकी स्पीड HDD से 3 से 6 गुना जड़ा होती है इसमें कोई भी डाटा जल्दी से copy या डिलीट हो जाता है इसलिए इसकी कीमत ज्यादा होती है। आज के समय सारी कंपनिया इस स्टोरेज का इस्तेमाल कर रहे है जैसे की HP, Dell, Lenovo, Apple इस्त्यादि।

Solid state drive में आप कोई भी सॉफ्टवेयर तेजी से चला सकते है क्योंकि उसकी स्पीड बहुत जड़ा होती है।

ROM मेमोरी के प्रकार (Types of ROM)

ROM 4 प्रकार के होते है

1) Masked Read Only Memory

इस मेमोरी में कंपनी द्वारा प्रोग्राम और instruction को डाल कर दिया जाता है इस मेमोरी को केवल read यानी की इसमें का डाटा हम देख सकते है पर इसपर कुछ लिख नहीं सकते है MROM बहुत कीमती होता है। यह काफी पुराने जमाने की मेमोरी है।

2) Programmable Read Only Memory

इस मेमोरी का डाटा हम बदल या change कर सकते है पर केवल एक बार उसके बाद हम इसके प्रोग्राम को बदल नही सकते। इसमें कई प्रकार की खामियां भी है।

3) Erasable and Programmable Read Only Memory

इस मेमोरी हम सारी चीजे कर सकते है डाटा को read करना हो या write, इस मेमोरी में हम जितनी चाहे उतनी बार डाटा को read और write कर सकते है पर इस मेमोरी का डाटा डिलीट करने में आधे घंटे से अधिक का समय लगता है Ultra Violet Light के जरिए इसका डाटा डिलीट किया जाता है।

4) Electrically Erasable and Programmable Read Only Memory

समय के साथ साथ ROM में बहोत बदलाव लाए गए और इस रोम का निर्माण हुआ जिसमे आप read और राइट पल भर में कर सकते है 6 से 10 मिली सेकंड में आपका डाटा डिलीट और स्टोर हो जाता है।


HDD vs SSD (एचडीडी और एसडीडी में अंतर)

HDD

SSD

HDD की कीमत काम होती है

SSD को कीमत ज्यादा होती है

इसकी डाटा ट्रांसफर स्पीड slow होती है

यह HDD से फास्ट होता है

यह आकार में बड़ा होता है

यह साइज(आकार) में छोटा होता है

मैकेनिकल कंपोनेंट होता है

Electronic कंपोनेंट होता है


Cache मेमोरी क्या है?

Cache कंप्यूटर का सबसे फास्ट मेमोरी होता है यह CPU के एकदम समीप होता है यह RAM से डाटा को एक्सेस करता है यह RAM से लगभग 10 से 100 गुना तेज होता है यह motherboard के साथ लगा हुआ आता है इसकी स्टोरेज कैपेसिटी बहोत काम होती है

इसमें 3 प्रकार के Cache मेमोरी होती है

  • L1 Cache: यह 8 से 64 kb तक डाटा रख सकता है।
  • L2 Cache: इसका साइज 1 से 2MB तक का होता है।
  • L3 Cache: इसका साइज करीब 8MB तक होता है।

Post a Comment

0 Comments